IIT JEE 2011 RESULT DECLARED! : पहले जानें परिणाम, फिर लॉक करें सीट

पहले जानें परिणाम, फिर लॉक करें सीट
 
कानपुर, 24 मई (जाका) : 
पहले जेईई 2011 का परिणाम जानें, फिर कहीं भी कंप्यूटर पर बैठकर सफल अभ्यर्थी सीट लॉक भी कर सकते हैं, क्योंकि आइआइटी जेईई का परिणाम जहां बुधवार (25-05-2011) को सुबह आठ बजे घोषित होगा, वहीं इसी तारीख से ऑनलाइन काउंसलिंग भी शुरू होगी। खास बात यह है कि इस बार फीस जमा करना हो या प्रमाण पत्रों की जांच, इनके लिए संस्थान जाने की जरूरत न होगी।
फीस ऑनलाइन जमा होगी, तो प्रमाण पत्र स्पीड पोस्ट से भेजने होंगे, विकलांग छात्रों को जरूर मेडिकल परीक्षण के लिए बोर्ड के सम्मुख जाना होगा। बीती 10 अप्रैल को दुबई समेत देश के 1051 परीक्षा केंद्रों पर हुई जेईई 2011 में करीब चार लाख 70 हजार अभ्यर्थी शामिल हुए। 
भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थानों की संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई) का परिणाम और ऑनलाइन काउंसलिंग की एक ही तिथि 25 मई मुकर्रर है। रात में 12 बजे के बाद आइआइटी ऑनलाइन काउंसिलिंग का पोर्टल एक्टीवेट कर देगा। आइआइटी जेईई 2011 के सफल अभ्यर्थी, देश के 15 आइआइटी समेत 17 संस्थानों के लिए डब्ल्यू डब्ल्यू डब्ल्यू जेईई आइआइटीकेएसीआइएन से विकल्प भर सकते हैं। विकल्प भरने की फीस एक हजार रुपये ऑनलाइन अदा करनी होगी। 
पंजीकरण एवं काउंसिलिंग फीस का भुगतान जेईई काउंसिलिंग ऑनलाइन पोर्टल (जेसीओपी) वेबसाइट पर 25 मई से शुरू होगा। फार्म की औपचारिकताएं पूरी करने के बाद जरूरी प्रमाण पत्रों के साथ स्पीड पोस्ट से संबंधित जोन की आइआइटी जेईई कार्यालय को भेजने होंगे। 
17 जून को शाम पांच बजे ऑनलाइन काउंसिलिंग बंद हो जाएगी। जोनल स्तर पर प्रिपरेटरी कोर्स के विद्यार्थियों की काउंसिलिंग 18 जुलाई को होगी। सीट एलाटमेंट की पहली सूची 21 जून को वेबसाइट पर जारी होगी तो 6 जुलाई को सीट आवंटन की दूसरी सूची जारी होगी। आइआइटी खड़गपुर व रुड़की के पाठ्यक्रम बी.आर्क (आर्किटेक्चर) एवं आइआइटी गुवाहटी के पाठ्यक्रम बी.डेस (डिजाइन) में प्रवेश के लिए परीक्षा 10 जून को होगी।

परिणाम जानने के लिए यहाँ क्लिक करें :- 
 
OR

MQMR and Cut-off marks जानने के लिए यहाँ क्लिक करें :- 

 
OR
COUNSELLING BROCHURE डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें :- 
 
OR
CLICK HERE

for CBSEinfo Magazine
www.cbseinfo.in
All the information furnished on www.cbseinfo.in should be treated as unofficial and informatory. The students / visitors / users must  go through the concerned website(s) or source(s) for duly  and full (official) information.

Related Posts

Post a Comment

Subscribe Our Newsletter